भारत की देसी गाय की नस्लें ……

ये हैं भारत की देसी गाय की नस्लें, जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे अभी तक लोगों को गायों की साहीवाल, गिर, थारपारकर जैसी देसी नस्लों के बारे Continue Reading →

जब बाहर की सारी दौड़ व्यर्थ हो जाती है, तो अंतस में जाने का प्रश्न और विचार और जिज्ञासा खड़ी होती है।

🎆🎆साक्षी की साधना-ओशो(प्रवचन-12)🎆🎆 ****************** (ओशो को भोगवादी कहने वालों को इस पोस्ट से उचित समाधान मिलेगा ) पूछा है: सत्य के खोजने की आवश्यकता ही क्या है? साधना की जरूरत Continue Reading →

कब वो दिन आएगा कि तुम दूसरों की आँखों में देखना बन्द करोगे और अपनी तरफ़ देखना शुरू करोगे ?

जपान में एक फ़कीर था. एक गाँव में, एक सुन्दर युवा. था वो फ़कीर. सारा गाँव उसे श्रद्धा करता और आदर देता. लेकिन एक दिन सारी बात बदल गई. गाँव Continue Reading →

तुरंत उत्तर न देना जीवन का परम सूत्र – गुर्जिएफ़

🔴तुरंत उत्तर न देना जीवन का परम सूत्र । गुरजिएफ एक फकीर हुआ, यूनान में। उसने अपनी आत्म-कथा में लिखा कि मेरा पिता मृत्यु-शय्या पर था, उसने मुझे अपने पास Continue Reading →

सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो

“सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो एक शिष्य ने ओशो से कहा की वह जिंदगी से तंग आ कर आत्महत्या करना चाहता है, इस पर ओशो बोले Continue Reading →

आंख की इतनी ऊर्जा का व्यय कैंसर पैदा कर सकता है।

शरीर की थकन और कैंसर अमेरिका में नई खोजें कह रही हैं कि टेलीविजन कैंसर का मूल आधार बनता जा रहा है। क्योंकि टेलीविजन आंख को बुरी तरह थकाने वाला Continue Reading →

जब हम लेट जाते हैं तो शरीर ही नहीं लेटता – उसके साथ अहंकार भी लेट जाता है।

🔴शवासन की खूबी क्या है ? शवासन का अर्थ है पूर्ण समर्पित शरीर की दशा, जब आपने शरीर को बिलकुल छोड दिया। पूरा रिलेक्स छोड़ दिया। जैसे ही आप शरीर Continue Reading →

यदि तुम हंस सको तो तुम्हारी सारी उदासी, सारा विषाद, सारा डिप्रेशन गायब हो जाएगा

🌺🌻🌺 तुम परमात्मा हो 🌺🌻🌺 डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति एक बड़े डाक्टर के पास गया | डाक्टर ने उसकी जांच की और पाया कि उसे कुछ भी नहीं है | Continue Reading →

मन का स्वभाव क्या है ?

मन है विचार की प्रक्रिया। मन कोई यंत्र नहीं है। मन कोई वस्तु नहीं है। मन एक प्रवाह है। मन को अगर हम ठीक से समझें तो मन कहना ठीक Continue Reading →