Addiction व्यसन

दिल में दर्द है तो एडिक्सन संभावित है – सब्सटेन्स का हो या फिर पावर या प्रॉफ़िट का। लेकिन सब्सटेन्स एडिक्सन दूसरों को उतना नुकसान नहीं पहुंचाता है। अल्कोहलिज़्म वर्कोहलिज़्म Continue Reading →

शरीर पर हमने प्रेम को ठहरा दिया। उसका नाम हमने विवाह रख दिया है।

जिस विवाह में प्रेम का मिलान नही ,वहीं विवाह ही अपवित्र है,ये सारे भगोड़े , इसी विवाह का हिस्सा हैं।विवाह में हम फिकर करते हैंऔर सब बातों की, सिर्फ प्रेम Continue Reading →

भय से निपटने के लिए ध्यान विधि

*भय से निपटने के लिए ध्यान विधि* 🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘 प्रत्येक रात 40 मिनट तक अपने भय को जिओ! कमरे में बैठ जाओ, लाइट बंद कर लो और भयभीत होने लगो। सभी Continue Reading →

जब बाहर की सारी दौड़ व्यर्थ हो जाती है, तो अंतस में जाने का प्रश्न और विचार और जिज्ञासा खड़ी होती है।

🎆🎆साक्षी की साधना-ओशो(प्रवचन-12)🎆🎆 ****************** (ओशो को भोगवादी कहने वालों को इस पोस्ट से उचित समाधान मिलेगा ) पूछा है: सत्य के खोजने की आवश्यकता ही क्या है? साधना की जरूरत Continue Reading →

सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो

“सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो एक शिष्य ने ओशो से कहा की वह जिंदगी से तंग आ कर आत्महत्या करना चाहता है, इस पर ओशो बोले Continue Reading →

जब हम लेट जाते हैं तो शरीर ही नहीं लेटता – उसके साथ अहंकार भी लेट जाता है।

🔴शवासन की खूबी क्या है ? शवासन का अर्थ है पूर्ण समर्पित शरीर की दशा, जब आपने शरीर को बिलकुल छोड दिया। पूरा रिलेक्स छोड़ दिया। जैसे ही आप शरीर Continue Reading →

यदि तुम हंस सको तो तुम्हारी सारी उदासी, सारा विषाद, सारा डिप्रेशन गायब हो जाएगा

🌺🌻🌺 तुम परमात्मा हो 🌺🌻🌺 डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति एक बड़े डाक्टर के पास गया | डाक्टर ने उसकी जांच की और पाया कि उसे कुछ भी नहीं है | Continue Reading →

मन का स्वभाव क्या है ?

मन है विचार की प्रक्रिया। मन कोई यंत्र नहीं है। मन कोई वस्तु नहीं है। मन एक प्रवाह है। मन को अगर हम ठीक से समझें तो मन कहना ठीक Continue Reading →