Addiction व्यसन

दिल में दर्द है तो एडिक्सन संभावित है – सब्सटेन्स का हो या फिर पावर या प्रॉफ़िट का। लेकिन सब्सटेन्स एडिक्सन दूसरों को उतना नुकसान नहीं पहुंचाता है। अल्कोहलिज़्म वर्कोहलिज़्म Continue Reading →

भय से निपटने के लिए ध्यान विधि

*भय से निपटने के लिए ध्यान विधि* 🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘⚫🔘 प्रत्येक रात 40 मिनट तक अपने भय को जिओ! कमरे में बैठ जाओ, लाइट बंद कर लो और भयभीत होने लगो। सभी Continue Reading →

शरीर को अल्कलाइन बनायें – शारीर की एसिडिक कंडीशन को अल्कलाइन में बदलने से अनेक रोग से मुक्ति मिल जाती है

🕉शरीर को अल्कलाइन बनाये 👍 मधुमेह जाग्रति अभियान याने जीवनशैली में परिवर्तन और उसी सन्दर्भ में शरीर की एसिडिक कंडीशन को अल्कलाइन में बदलने से अनेक रोग से मुक्ति मिल Continue Reading →

आयुर्वेदिक ओषधियाँ कैंसर पीड़ित मरीजों कि रोग – प्रतिरोधक क्षमता तो बढाती ही है, साथ ही दर्द से भी छुटकारा दिलाती है |

कैंसर की पीड़ा :- —————– कैंसर एक असाध्य रोग है यह बात हम सभी जानते है ,परन्तु इस रोग के साथ एक असहनीय दर्द भी साथ बना रहता है जिसका Continue Reading →

मिर्गी के मरीजों के लिए वरदान है हल्‍दी …..

मिर्गी के मरीजों के लिए वरदान है हल्‍दी भारतीय खानों में हल्‍दी का प्रयोग धड़ल्‍ले से किया जाता है क्‍योंकि यह एंटी बायोटिक का काम करती है। लेकिन एम्‍स के Continue Reading →

अनिद्रा [ Insomnia ] एक जीवन शैली है ! ~ ओशो

” अनिद्रा एक जीवन शैली है ! ” ~ ओशो ” अनिद्रा कोई बीमारी नहीं है। अनिद्रा एक जीवनशैली है। प्रकृति की ओर से मनुष्य को इस प्रकार बनाया गया Continue Reading →

नवीनतम विज्ञान की खोजें कहती हैं, कि बच्चे की नाल को तत्क्षण काटना सदा के लिए उसे कमजोर बना देना है।

*पहली सांस जिसने घबड़ाहट से, भय से, कंपन से ली हो उसमें जीवनभर भय और कंपन प्रविष्ट हो जाएगा। अब तुम जीना चाहो तो भी तुम स्वतंत्र नहीं; हस्तक्षेप है।तुम Continue Reading →

भारत की देसी गाय की नस्लें ……

ये हैं भारत की देसी गाय की नस्लें, जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगे अभी तक लोगों को गायों की साहीवाल, गिर, थारपारकर जैसी देसी नस्लों के बारे Continue Reading →

सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो

“सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो एक शिष्य ने ओशो से कहा की वह जिंदगी से तंग आ कर आत्महत्या करना चाहता है, इस पर ओशो बोले Continue Reading →