प्रतिक्रमण बहुत उपयोगी है, खासकर उनके लिए जिन्हें अनिद्रा की तकलीफ हो

कुछ भी ध्यान बन सकता है – “नींद” प्रतिक्रमण – सजग नींद में प्रवेश करवाने वाली विधि। “रात में जब तुम सोने लगो, गहरी नींद में उतरने लगो तो पूरे Continue Reading →

मसाले कौन कौन से है और ये किस प्रकार ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते है

*9 मसाले कौन कौन से है और ये किस प्रकार ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते है व इनके पीछे छिपी वैज्ञानिकता क्या है ?* 🍯नमक *(पिसा हुआ) सूर्य* 🍯लाल मिर्च…. *(पिसी Continue Reading →

शांत मन स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है ….

मौन बैठने से बदल सकता है आपका जीवन अगर आप अपनी इच्छा से कुछ समय के लिए बोलना छोड़ दें, मौन धारण कर लें तो इससे आपको बहुत फायदे हो सकते Continue Reading →

ध्यान के फायदे – – – – – –

🔴ध्यान के 100 लाभ ध्यान के कई फायदे हैं ध्यान शक्तिशाली है यहाँ लाभों की निश्चित सूची है जो ध्यान आपको प्रदान कर सकती है: शारीरिक लाभ: 1- यह ऑक्सीजन Continue Reading →

अंधकार पर किया जानेवाला ध्‍यान तुम्‍हारे सारे पागलपन को पी जायेगा।

सिर्फ जापन में इस दिशा में इस कुछ प्रयास किया है। वे अपने पागल लोगों के साथ बिलकुल भिन्‍न व्‍यवहार करते है। यदि कोई व्‍यक्‍ति पागल हो जाता है विक्षिप्‍त Continue Reading →

सीज़नल अफ़ेक्टिव डिसऑर्डर (एसएडी) ‘सेप्टेंबर ब्लूज़’ यानी उदासी भरा मौसम……

सितंबर में उदासी या डिप्रेशन बढ़ क्यों जाता है ? इन दिनों अगर आप कुछ परेशानी महसूस कर रहे हैं और सबकुछ ठीक होते हुए भी लगता है कहीं न Continue Reading →

बुद्ध की सारी जीवन-प्रक्रिया को एक शब्द में हम रख सकते हैं, वह है, अवेयरनेस, जागकर जीना

बुद्ध की सारी जीवन-प्रक्रिया को एक शब्द में हम रख सकते हैं, वह है, अप्रमाद, अवेयरनेस, जागकर जीना। जागकर जीने का क्या अर्थ होता है? अभी तुम रास्ते पर चलते Continue Reading →

रात्रि-भोजन का भगवान महावीर ने निषेध क्यों किया – ओशो

भोजन का मनोविज्ञानं || रात्रि-भोजन का भगवान महावीर ने निषेध क्यों किया || सूर्योदय के साथ ही जीवन फैलता है। सुबह होती है, सोये हुए पक्षी जग जाते है, सोये Continue Reading →

अगर श्वेत कुष्ठ अधिक दिनों का पुराना हो तो यह प्रयोग आजमाये . . . . . .

  श्वेत कुष्ठ या सफेद दाग त्वचा से संबंधित रोग है। कुछ लोग इसे कुष्ठ रोग भी मानते है। जबकि यह अवधारण गलत है। दुनियाभर में सफेद दाग से करीब Continue Reading →

इंद्र जौ के फ़ायदे जान दंग रह जाएँगे आप ……

इन्द्रजौ का पौधा एक जंगली पौधा होता है। इसका पौधा 5-10 फुट ऊंचा होता है। इसके पत्ते बादाम के पत्तों की तरह लंबे होते हैं। महाराष्ट्र के कोंकण में इन पत्तों का Continue Reading →