अंधकार पर किया जानेवाला ध्‍यान तुम्‍हारे सारे पागलपन को पी जायेगा।

सिर्फ जापन में इस दिशा में इस कुछ प्रयास किया है। वे अपने पागल लोगों के साथ बिलकुल भिन्‍न व्‍यवहार करते है। यदि कोई व्‍यक्‍ति पागल हो जाता है विक्षिप्‍त Continue Reading →

अनिद्रा [ Insomnia ] एक जीवन शैली है ! ~ ओशो

” अनिद्रा एक जीवन शैली है ! ” ~ ओशो ” अनिद्रा कोई बीमारी नहीं है। अनिद्रा एक जीवनशैली है। प्रकृति की ओर से मनुष्य को इस प्रकार बनाया गया Continue Reading →

जब बाहर की सारी दौड़ व्यर्थ हो जाती है, तो अंतस में जाने का प्रश्न और विचार और जिज्ञासा खड़ी होती है।

🎆🎆साक्षी की साधना-ओशो(प्रवचन-12)🎆🎆 ****************** (ओशो को भोगवादी कहने वालों को इस पोस्ट से उचित समाधान मिलेगा ) पूछा है: सत्य के खोजने की आवश्यकता ही क्या है? साधना की जरूरत Continue Reading →

तुरंत उत्तर न देना जीवन का परम सूत्र – गुर्जिएफ़

🔴तुरंत उत्तर न देना जीवन का परम सूत्र । गुरजिएफ एक फकीर हुआ, यूनान में। उसने अपनी आत्म-कथा में लिखा कि मेरा पिता मृत्यु-शय्या पर था, उसने मुझे अपने पास Continue Reading →

सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो

“सुसाइड की जरुरत नहीं, संन्यास लो !” – ओशो एक शिष्य ने ओशो से कहा की वह जिंदगी से तंग आ कर आत्महत्या करना चाहता है, इस पर ओशो बोले Continue Reading →

जब हम लेट जाते हैं तो शरीर ही नहीं लेटता – उसके साथ अहंकार भी लेट जाता है।

🔴शवासन की खूबी क्या है ? शवासन का अर्थ है पूर्ण समर्पित शरीर की दशा, जब आपने शरीर को बिलकुल छोड दिया। पूरा रिलेक्स छोड़ दिया। जैसे ही आप शरीर Continue Reading →

यदि तुम हंस सको तो तुम्हारी सारी उदासी, सारा विषाद, सारा डिप्रेशन गायब हो जाएगा

🌺🌻🌺 तुम परमात्मा हो 🌺🌻🌺 डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति एक बड़े डाक्टर के पास गया | डाक्टर ने उसकी जांच की और पाया कि उसे कुछ भी नहीं है | Continue Reading →

मन का स्वभाव क्या है ?

मन है विचार की प्रक्रिया। मन कोई यंत्र नहीं है। मन कोई वस्तु नहीं है। मन एक प्रवाह है। मन को अगर हम ठीक से समझें तो मन कहना ठीक Continue Reading →

पुनर्जन्‍म एक सच्‍चाई है – ओशो

प्रश्‍न(1)—कुछ धर्म पुनर्जन्‍म में विश्‍वास करते है और कुछ नहीं करते। आप अपने बारे में कैसे जान सकते है कि आपने भी जीवन जिया है और पुन: जीएंगे? ओशो—सिद्धांतों में Continue Reading →