जैसे जैसे सपने विदा होंगे, तुम सत्य में प्रवेश करने में ज्यादा समर्थ हो सकोगे ……….

_सपने परिपूरक हैं….._ ….. और मनसविद कहते हैं कि मनुष्य जैसा है, सपनों के बिना उसका जीना कठिन होगा। और वे एक अर्थ में सही हैं। जैसा मनुष्य है, सपनों Continue Reading →

वो सबसे धनवान है जो कम से कम में संतुष्ट है , क्योंकि संतुष्टि प्रकृति कि दौलत है – सुकरात

सुकरात के सूत्र एक ईमानदार आदमी हमेशा एक बच्चा होता है। जहाँ तक मेरा सवाल है , मैं बस इतना जानता हूँ कि मैं कुछ नहीं जानता। हर व्यक्ति की Continue Reading →

जब तक स्वयं का साक्षात न हो, विषाद होगा ही

मेरे जीवन में इतना विषाद क्यों है? अनिल भारती, किसके जीवन में विषाद नहीं है? जब तक स्वयं का साक्षात न हो, विषाद होगा ही। जब तक परमात्मा न मिले, Continue Reading →

ध्यान की एक ऐसी विधि जिसे सांसारिक दिनचर्या करते हुए किया जा सके ……

एक बहुत छोटा-सा प्रयोग करें। *इतना ही करें कि तादात्म्य न करूंगा घंटेभर, आइडेंटिफिकेशन न करूंगा घंटेभर।* घंटेभर बैठ जाएं। पैर में चींटी काटेगी, तो मैं ऐसा अनुभव करूंगा कि Continue Reading →

जीना अभी और यहीं – ओशो

तीसरा प्रश्न: आप कहते हैं, जीओ अभी और यहीं। पर स्वयं को देखकर हमें अभी और यहीं जीने जैसा नहीं लगता। वर्तमान में जीने की बजाय भविष्य की कल्पना में Continue Reading →

Meditation illness during बीमारी के समय की जाने वाली ध्यान विधि

यह विशेष ध्यान विधि उन घड़ियों के लिये उपयोगी है जब आप बीमार होते हैं क्योंकि यह आपके तथा आप के देह -मन के बीच एक प्रेमपूर्ण सूत्र स्थापित करने Continue Reading →

प्रेम के अतिरिक्‍त कोई आदमी कभी स्‍वस्‍थ नहीं हो सकता।

सारी दुनिया में स्‍त्रियां हिस्‍टीरिया और न्‍यूरोसिस से पीड़ित है। विक्षिप्‍त उन्‍माद से भरती चली जा रही है। बेहोश होती गिरती है, चिल्‍लाती है। पुरूष पागल होते चले जा रहे Continue Reading →

वेदना और विषाद ही अंततः शारीरिक बीमारियों का रूप लेते हैं ……..

पूरे यूरोप में यह धारणा मजबूत हो रही है कि दुनिया को डॉक्टरों से ज्यादा योगियों की जरूरत है योग और ध्यान को भारत की ही तरह यूरोप में भी Continue Reading →

जवान रहना है तो मौन हो जाओ? –आइंस्‍टीन की क्रांतिकारी खोज ..

अल्‍बर्ट आइंस्टीन ने खोज की और निश्‍चित ही यह सही होगी, क्‍योंकि अंतरिक्ष के बारे में इस व्‍यक्‍ति ने बहुत कठोर परिश्रम किया था। उसकी खोज बहुत गजब की है। उसने Continue Reading →